प्राचीन भारतीय समाज में महिलाओँ की स्थिति

प्राचीन भारतीय समाज में महिलाओं की स्थिति

प्राचीन भारतीय समाज में महिलाओं की स्थिति वर्तमान समय में महिलाओं की स्थिति बहुत सुदृढ़ हो चुकी है। वे जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में पुरुषों से प्रतिस्पर्धारत हैं। परंतु हम प्रायः सुनते हैं कि प्राचीन भारतीय समाज में महिलाओं की स्थिति ठीक नहीं थी। चूंकि यह कथन प्राचीन भारतीय समाज को कठघरे में खड़ा करता …

प्राचीन भारतीय समाज में महिलाओं की स्थिति Read More »

राम बड़े या कृष्ण

राम बड़े या कृष्ण राम बड़े या कृष्ण यह जानने के लिए हमें दोनों के चरित्र का विश्लेषण करना होगा. भगवान विष्णु के अब तक 9 अवतार हो चुके हैं परंतु राम और कृष्ण दो ऐसे चरित्र हैं जो भारतीय जनमानस के हृदय में समाहित हैं। भारतीय समाज में इन्ही दो चरित्रों का सर्वाधिक अनुकरण …

राम बड़े या कृष्ण Read More »

देवरहा बाबा की जीवनी-Devraha baba

 देवरहा बाबा की जीवनी- Devraha Baba देवरहा बाबा की जीवनी- Devraha baba से पहले यह एक घटना जान लेना आवश्यक है. आपातकाल के बाद आम चुनाव में हुई हार से व्यथित इंदिरा गांधी अगले चुनाव में जीत को लेकर आश्वस्त नहीं थीं। वह किसी संबल की तलाश में थीं। तब किसी ने उन्हें वृंदावन में …

देवरहा बाबा की जीवनी-Devraha baba Read More »

भारत की महत्वाकांक्षी परियोजनाएं

        भारत की महत्वाकांक्षी परियोजनाएं सरकारें देश के विकास के लिए अनेक परियोजनाएं चलाती हैं। इन परियोजनाओं के उद्देश्य अलग-अलग होते हैं । कोई परियोजना सिंचाई, बिजली आदि मूलभूत सुविधाओं पर केन्द्रित होती है तो कई परियोजनाओं की रूपरेखा व्यापार , राष्ट्रीय सुरक्षा जैसे बड़े विषयों को ध्यान में रखकर बनाई जाती …

भारत की महत्वाकांक्षी परियोजनाएं Read More »

भारत सोने की चिड़िया

भारत सोने की चिड़िया सचमुच था?

भारत सोने की चिड़िया सचमुच था ? भारत सोने की चिड़िया सचमुच था या नहीं यह बड़ा ही जटिल प्रश्न है. वर्तमान समय में भारत एक विकासशील देश है। आर्थिक रूप से समृद्ध देशों की तुलना में भारत बहुत पीछे है। यहां की 35 प्रतिशत जनसंख्या गरीबी रेखा के नीचे निवास करती है। हमारे देशवासी …

भारत सोने की चिड़िया सचमुच था? Read More »

चिंता (Anxiety) एक बीमारी इससे कैसे बचें

चिंता एक बीमारी चिंता एक बीमारी है हम सभी ने कही न कही यह वाक्यांश सुना या पढा जरूर होगा. ये भी सुना होगा – चिंता चिता के समान होती है। अब तो कई स्वास्थ्य सर्वेक्षण भी यह साबित करने के लिए काफी हैं कि हमारी ८० फीसदी स्वास्थ्य समस्याओ के पीछे कोई मानसिक कारण …

चिंता (Anxiety) एक बीमारी इससे कैसे बचें Read More »

अवचेतन मन की शक्ति

    अवचेतन मन की शक्ति   अवचेतन मन की शक्ति से ही प्राचीन काल में ऋषि मुनि अनेक अलौकिक शक्तियों के स्वामी होते थे। ऐसी शक्तियां जिन पर सहज विश्वास आज भी नहीं होता। असुरों को वरदान में इसी प्रकार कई विध्वंसक शक्तियां प्राप्त होती थीं जिनका वे दुरुपयोग करते थे। ये शक्तियां आती …

अवचेतन मन की शक्ति Read More »

कर्म और भाग्य- KARMA AUR BHAGYA

  कर्म फल वर्णन   कर्म और भाग्य – karma aur bhagya   कर्म और भाग्य में कौन महत्वपूर्ण है यह विषय हमेशा से ही विवादित रहा है. कोई भाग्य को बड़ा बताता है तो कोई कर्म को. गोस्वामी तुलसीदासजी ने भी रामचरितमानस में लिखा है- कर्म प्रधान विश्व रचि राखा / जो जस करे …

कर्म और भाग्य- KARMA AUR BHAGYA Read More »

सकारात्मक सोच का जीवन पर असर

सकारात्मक सोच का जीवन पर असर सकारात्मक सोच का महत्व आज के समय से बहुत बढ़ जाता है. आजकल हम कोरोना (corona) की भीषण त्रासदी से जूझ रहे हैं.  अभी तक कोई टीका (vaccine) न बन पाने के कारण इससे बचाव के दो ही तरीके हैं. पहला सामाजिक दूरी (social distensing) और दूसरा रोग प्रतिरोधक …

सकारात्मक सोच का जीवन पर असर Read More »

Scroll to Top