अनेक शब्दों के लिए एक शब्द

अनेक शब्दों के लिए एक शब्द- one word substitution in hindi

आज हम आपके लिए अनेक शब्दों के लिए एक शब्द- one word substitution in hindi नामक पोस्ट लाये हैं। जिसमें हिंदी में प्रयोग होने वाले एकशब्दीय वाक्यांश anek shabdon ke liye ek shabd अर्थ सहित दिए गए हैं। जोकि प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों एवं हिंदी सीखने वालों के लिए बहुत उपयोगी हैं।

अनेक शब्दों के लिए एक शब्द- one word substitution in hindi

परिभाषा

कम से कम शब्दों में अधिक से अधिक विचारों या शब्दसमूह को अभिव्यक्त करने वाले शब्द अनेक शब्दों के लिए एक शब्द के अंतर्गत आते हैं। इनका प्रयोग वाक्य या कथन को सारगर्भित, साहित्यिक और सुंदर बनाता है।

अनेक शब्दों के लिए एक शब्द
अनेक शब्दों के लिए एक शब्द

anek shabdon ke liye ek shabd

1- जो कभी बूढ़ा न हो – अजर
2- जिसकी कभी मृत्यु न हो- अमर
3- जो दिखाई न दे – अदृश्य
4- जिसे जाना न जा सके- अज्ञेय
5- जो दिया न जा सके – अदेय
6- जो पिया न जा सके- अपेय
7- जो खाया न जा सके- अखाद्य
8- जिसे छूना वर्जित हो – अस्पृश्य
9- जिसे पहले पढ़ा न हो – अपठित
10- जिसे टाला न जा सके- अवश्यम्भावी


11- जिसके बारे में कुछ पता न हो- अज्ञात
12- जिसे जीता न जा सके- अजेय
13- जिसे हराया न जा सके- अपराजेय
14- जिसका उल्लंघन न किया जा सके- अनुलंघनीय
15- पीछे चलने वाला – अनुगामी
16- साथ चलने वाला – सहचर
17- मन की बात जानने वाला- अंतर्यामी
18- सब कुछ देख लेने वाला- सर्वदृष्टा
19- सब कुछ जानने वाला- सर्वज्ञानी, सर्वज्ञ
20- अपने आप में मग्न रहने वाला- अंतर्मुखी


21- सबसे घुल मिल जाने वाला- बहिर्मुखी
22- कुछ न जानने वाला- अज्ञानी
23- रात्रि में घूमने वाला – रात्रिचर, निशाचर
24- प्रतिदिन होने वाला- दैनिक, रोजाना
25- सप्ताह में एक बार होने वाला- साप्ताहिक
26- पंद्रह दिन में एक बार होने वाला- पाक्षिक
27- माह में एक बार होने वाला- मासिक
28- तीन महीने में एक बार होने वाला- त्रैमासिक
29- छः महीने में एक बार होने वाला- अर्द्धवार्षिक, छमाही
30- साल में एक बार होने वाला – वार्षिक, सालाना


31- पूरे जीवन भर – आजीवन
32- करने योग्य कार्य – करणीय
33- जहां कोई इंसान न हो – निर्जन
34- संसार से संबंधित- लौकिक, सांसारिक
35- संसार से बाहर का- अलौकिक, पारलौकिक
36- पूरे दिन के क्रिया-कलाप- दिनचर्या
37- जिसे जीतना कठिन हो- दुर्जय
38- जो हो न सके – असम्भव
39- शाक सब्जी खाने वाला- शाकाहारी
40- मांस खाने वाला- मांसाहारी


41- सब कुछ कहने वाला- सर्वाहारी
42- बहुत कम खाने वाला- अल्पाहारी
43- कड़वे वचन बोलने वाला – कटुभाषी
44- मीठा बोलने वाला – मधुरभाषी
45- कम बोलने वाला- मितभाषी
46- दूसरों की बुराई, निंदा करने वाला- परनिंदक, निंदक
47- बड़ाई या प्रसंशा करने वाला – प्रसंशक
48- जो बोलने में असमर्थ हो – मूक, गूंगा
49- जो सुनने में असमर्थ हो – बधिर, बहरा
50- जो देखने में असमर्थ हो – अंधा


51- जिसका कोई अंग काम न करता हो – विकलांग, दिव्यांग
52- जिसकी बुद्धि बहुत तेज हो – कुशाग्रबुद्धि
53- जिसकी बुद्धि कमजोर हो – मंदबुद्धि
54- आसानी से प्राप्त होने वाला – सुलभ
55- बहुत कठिनाई से मिलने वाला – दुर्लभ
56- जिसे करना कठिन हो – दुष्कर
57- जिसे कोई शोक न हो – अशोक
58- दूसरों से जलन रखने वाला – ईर्ष्यालु
59- दूसरों का उपकार करने वाला – परोपकारी
60- सुख दुख में समान रहने वाला – स्थिरप्रज्ञ


61- जिसका मूल्य न बताया जा सके – अमूल्य
62- जिसका कोई सगा-सम्बन्धी न हो – अनाथ
63- भाग्य जिसका साथ न दे – अभागा
64- जो पहले कभी न हुआ हो – अभूतपूर्व
65- जो शीघ्र ही मरने वाला हो – मरणासन्न
66- जिसे पड़ से हटा दिया गया हो- पदच्युत
67- दूसरों की भलाई के लिए सोचने वाला – शुभचिंतक
68- जिसकी मृत्यु हो गयी हो- स्वर्गीय, मृत
69- लम्बे समय तक जीवित रहने वाला – चिरंजीवी
70- जिसका जीवन दूसरों पर आश्रित हो – परजीवी


71- जो दूर की सोचता हो – दूरदर्शी
72- धरती और आकाश के बीच का स्थान- अंतरिक्ष
73- किसी देश के अंदर के मामले- अंतर्देशीय
74- जो बीत चुका हो – अतीत, भूत,
75- जो इंद्रियों के द्वारा न जाना जा सके- अगोचर
76- जिसने इंद्रियों को वश में कर लिया है- जितेंद्रिय
77- दोपहर के पहले का समय – पूर्वाह्न
78- दोपहर के बाद का समय- अपराह्न
79- जिसका त्याग न किया जा सके- अपरिहार्य
80- जिसका अनुभव किया जा चुका हो – अनुभूत


81- बिना वेतन काम करने वाला – अवैतनिक
82- जिसका कोई शत्रु न हो – अजातशत्रु
83- जिसके पास कुछ न हो – अकिंचन
84- जो कानून के विरुद्ध हो – अवैधानिक, अवैध
85- जो तोला या नापा न जा सके – अपरिमेय
86- जिसका इलाज न हो सके – असाध्य
87- जिसका मन कहीं और लगा हो – अन्यमनस्क
88- आवश्यकता से अधिक संग्रह न करना – अपरिग्रह
89- सामान्य नियम के विरुद्ध – अपवाद
90- अनुचित खर्च करने वाला – अपव्ययी


91- जिसका कभी अंत न हो- अनंत
92- जिसके समान कोई दूसरा न हो – अद्वितीय
93- जिसका खण्डन न किया जा सके – अकाट्य
94- जिसपर मुकदमा चल रहा हो – अभियुक्त,
95- जिसकी कोई सीमा न हो – असीम
96- जिसके आने की कोई तिथिं न हो – अतिथि
97- जो घूमता फिरता आ जाए – आगंतुक
98- ऊपर चढ़ने वाला- आरोही
99- जो ऊपर कहा गया हो- उपर्युक्त
100- किसी के बाद उसके पद यत् संपत्ति को ग्रहण करने वाला – उत्तराधिकारी

one word substitution in hindi- अनेक शब्दों के लिए एक शब्द

101- जो जमीन उपजाऊ हो – उर्वरा
102- जिसका उल्लेख करना आवश्यक हो- उल्लेखनीय
103- जल और जमीन दोनों पर चलने वाला- उभयचर
104- खाने के बाद बचा हुआ जूठन- उच्छिष्ट
105- जिस जमीन पर कुछ उत्पन्न न हो – ऊसर
106- एक ही आदमी का अधिकार – एकाधिकार
107- इतिहास से संबंधित – ऐतिहासिक
108- इंद्रियों से सम्बंधित – ऐन्द्रिक
109- जो अपनी इच्छा पर निर्भर हो – ऐच्छिक
110- अपनी विवाहिता पत्नी से उत्पन्न पुत्र – औरस


111- ऊपरी आचरण – औपचारिक
112- कर्तव्य न सूझ रहा हो- किंकर्तव्यविमूढ़
113- भूख-प्यास और भय से घबराया हुआ – कातर, अधीर
114- कथा जो जनसामान्य में प्रचलित हो- किंवदंती
115- किसका ज्ञान सीमित हो, जो एक ही स्थान के बारे में जानता हो – कूपमंडूक
116- जो खरीदा गया हो – क्रीत
117- किये गए अहसान को भूल जाने वाला – अहसानफरामोश, कृतघ्न118- उपकार मानने वाला – कृतज्ञ
119- कार्य हो जाने से संतुष्ट – कृतार्थ
120- किसी वस्तु को देखने अथवा सुनने की प्रबल इच्छा – कौतूहल


121- कविता लिखने वाली स्त्री – कवयित्री
122- सारे शरीर की हड्डियों का ढांचा – कंकाल
123- बाधाओं या कांटों से भरा मार्ग – कंटकाकीर्ण
124- कमल के समान सुंदर आंखों वाली – कमलनयनी
125- किसी विचार को कार्य रूप में बदलना – कार्यान्वयन
126- जो काम से जी चुराता हो – कामचोर
127- जो अच्छे चाल चलन का न हो – कुचाली
128- मन गढ़ंत बात – कपोलकल्पित
129- काम में लगा रहने वाला – कर्मठ
130- लता बेलों से घिरा सुंदर स्थान – कुंज


131- ऐसा ग्रहण जिसमें सूर्य या चन्द्रमा पूरा ढंक जाए- खग्रास
132- जो आकाश में चलता हो – खेचर, नभचर
133- खाने योग्य पदार्थ – खाद्य
134- आकाश को चूमने या छूने वाला – गगनचुंबी
135- दिन और रात के बीच का समय – गोधूलि
136- जो भोजन देर से पचे – गरिष्ठ
137- जिसके सिर पर बाल न हो – गंजा
138- गंगा से उतपन्न या सम्बंधित – गांगेय
139- घुलने योग्य पदार्थ – घुलनशील
140- जिसका राज्य पूरी पृथ्वी पर हो – चक्रवर्ती


141- जो सदा से चला आ रहा हो – चिरन्तन, शाश्वत
142- जिसके चार पैर हों – चतुष्पद
143- अपने लाभ के लिए किसी की प्रशंसा करने वाला – चाटुकार
144- ऐसा काव्य जिसमें गद्य और पद्य दोनों हों – चम्पू
145- चारों ओर की सीमा – चौहद्दी
146- बरसात के चार महीने- चौमासा
147- छिपे वेश में रहना – छद्मवेश
148- किसी में दोष ढूढना – छिद्रान्वेषण
149- किसी पर आरोप लगा कर छेड़ना – छींटाकसी
150- जनता द्वारा चलाया जाने वाला शासन – जनतंत्र


151- जीने की प्रबल इच्छा – जिजीविषा
152- किसी पर विजय पाने की इच्छा – जिगीषा
153- जानने की इच्छा रखने वाला – जिज्ञासु
154- जो संतान अवैध हो – जारज
155- जल में चलने वाला यान – जलयान
156- जन्म से सौ वर्ष का समय – जन्मशती, जन्मशताब्दी
157- जो जन्म से ही अंधा हो – जन्मांध
158- बुढ़ापे के कारण जर्जर – जराजीर्ण
159- पेट की अग्नि – जठराग्नि
160- जंगल की आग – दावानल

161- पति का बड़ा भाई – जेठ
162- बेटी का पति – जामाता, दामाद
163- स्वाभावतः झगड़ा करने वाला – झगड़ालू
164- किसी विषय पर अपना मत रखना – टिप्पणी
165- सिक्के ढलने के कारखाना – टकसाल
166- चारों ओर से जल से घिरी जमीन – टापू
167- जिसमें बाण रखे जाते हैं – तरकश, तूणीर
168- तर्क के आधार पर ठीक हो – तार्किक, तर्कसंगत
169- भूत, भविष्य, वर्तमान तीनों काल को जानने वाला – त्रिकालज्ञ
170- जो त्याग देने लायक हो – त्याज्य


171- विवाद या गुटबाजी से अलग रहने वाला – तटस्थ
172- जिसको त्याग दिया गया हो – त्यक्त
173- काम में निष्ठापूर्वक लगा हुआ – तत्पर
174- एक व्यक्ति द्वारा चलाया जाने वाला मनमाना शासन- तानाशाही
175- करचोरी से प्रतिबंधित माल बेचने वाला – तस्कर
176- जो देवताओं के योग्य हो – दिव्य
177- गोद लिया हुआ पुत्र – दत्तक
178- जहां जाना कठिन हो – दुर्गम
179- पति- पत्नी का जोड़ा – दम्पति
180- दण्ड दिए जाने योग्य – दंडनीय


181- जिसका मुख्य दाईं ओर हो –दक्षिणावर्त, दक्षिणाभिमुखी
182- पूरी तरह मन लगाकर – दत्तचित्त
183- बुरे चरित्र वाला – दुश्चरित्र
184- जिसे करना बहुत कठिन हो – दुष्कर
185- जो अपनी प्रतिज्ञा पर दृढ़ रहता हो – दृढ़प्रतिज्ञ
186- अपने देश से विश्वासघात करने वाला – देशद्रोही
187- तेज गति से जाने वाला – द्रुतगामी
188- ऐसा अकाल जिसमें भिक्षा देना भी कठिन हो – दुर्भिक्ष
189- जिसे भेदना कठिन हो – दुर्भेद्य
190- जिसका समाधान कठिन हो – दुःसाध्य


191- अनुचित बात के लिए आग्रह करना – दुराग्रह
192- जिसे पूजा द्वारा प्रसन्न करना कठिन हो – दुराराध्य
193- जिसके दश मुंह हों – दशानन, दशमुख
194- जिस पर तिथि या दिनांक अंकित हो – दिनांकित
195- जो अपने ऋण चुकाने में असमर्थ हो – दिवालिया
196- जिसकी बाहें घुटनों तक लम्बी हों – आजानुबाहु
197- जो देखने योग्य हो – दर्शनीय
198- पुराने संकुचित विचारों वाला – दकियानूस
199- विवाह के बाद बहू का दोबारा ससुराल आना – द्विरागमन
200- जिसे दबाया/ पीड़ित किया गया हो – दलित

anek shabdon ke ek shabd

201- नजर का दोष होना – दृष्टिदोष
202- दो भाषाएं बोलने वाला – द्विभाषी,
203- दो भिन्न भाषा बोलने वालों के बीच मध्यस्थता करने वाला – द्विभाषिया
204- जो वस्तु दूसरों के यहां रखी हो – धरोहर
205- धन देने वाली – धनदा
206- धार्मिक सिद्धान्तो के अनुसार आचरण करने वाला – धर्मात्मा
207- धनुष धारण करने वाला – धनुर्धर
208- यात्रियों के लिए बने आश्रय स्थल – धर्मशाला
209- मछली पकड़ने वाली जाति – धीवर
210- जिसकी धर्म में निष्ठा हो – धर्मनिष्ठ


211- जो गिनती के योग्य न हो – नगण्य
212- जो ईश्वर को न मानता हो – नास्तिक
213- ईश्वर में विश्वास रखने वाला – आस्तिक
214- जो निंदा के योग्य हो – निंदनीय
215- जो कामना रहित हो – निष्काम
216- जो नीचे लिखा गया हो- निम्नलिखित
217- जो भयभीत न होता हो – निर्भीक, अभय
218- बिना मांस का – निरामिष
219- जिसके मन में दया न हो – निर्दयी
220- जिसके हृदय में ममता न हो – निर्मम


221- बिना किसी फीस/ शुल्क का – निःशुल्क
222- जो चिंता से रहित हो – निश्चिंत
223- जिसका कोई आधार न हो – निराधार
224- जो विषय भोग से रहित हो – निरीह
225- जिसको किसी प्रकार का लोभ न हो – निस्पृह
226- जिसका कोई आसरा न हो – निराश्रय
227- जो नष्ट होने वाला हो – नश्वर
228- जिसे अक्षर ज्ञान न हो – निरक्षर
229- जिसके पास शक्ति का अभाव हो – निर्बल, दुर्बल
230- जो हर बात में निराशा प्रकट करता हो – निराशावादी


231- रात्रि के मध्य भाग का समय – निशीथ
232- जिस पर किसी प्रकार का अंकुश न हो – निरंकुश
233- जिसके पास कोई उत्तर न हो – निरुत्तर
234- बिना पलक झपकाए लगातार देखना – निर्निमेष
235- जिसका कोई आकार न हो – निराकार
236- सरकारी अधिकारियों का शासन – नौकरशाही, लालफीताशाही
237- जिसके विषय में कोई मतभेद या विवाद न हो – निर्विवाद
238- जो नया आया हो – नवागत
239- जहां किसी बात का डर या खतरा न हो – निरापद
240- देश के बाहर माल भेजना – निर्यात


241- दूसरे देश से माल लेना – आयात
242- जिसका निषेध किया गया हो – निषिद्ध
243- जिसपर कोई कलंक न लगा हो – निष्कलंक
244- जिसने कभी पाप न किया हो – निष्पाप
245- जिसमें तेज न हो – निष्तेज
246- जिसकी सहायता करने वाला कोई न हो – निस्सहाय
247- नीति का ज्ञान रखने वाला – नीतिज्ञ
248- जिसकी आशा न की गयी हो – अप्रत्याशित
249- बिना जड़ का – निर्मूल
250- हाल ही में पैदा हुआ – नवजात


251- हाल में ब्याही वधू – नववधू
252- नगर में रहने वाला – नागरिक
253- पुत्री की पुत्री – नातिन
254- नरक से संबंधित या नरक में रहने वाला – नारकीय
255- जिसमें शब्द न हो रहा हो – निःशब्द
256- जिसकी कोई संतान न हो – निःसंतान
257- जिसे देश से निकाला गया हो – निर्वासित
258- जिसे कोई रोग न हो – निरोग
259- जिसकी उपमा न दी जा सके – निरुपम
260- सिर से पाँव तक के सब अंग – नखशिख


261- नया उदय होने वाला – नवोदित
262- जिसका गला नीले रंग का है – नीलकंठ
263- जिसका कोई अर्थ न हो – निरर्थक
264- निम्न कोटि का – निकृष्ट
265- जो शंका करने वाला योग्य न हो – निःशंक
266- जो दूसरे के अधीन हो – परतंत्र
267- मिट्टी का बना हुआ या पृथ्वी से संबंधित – पार्थिव
268- जो सुख दुख से परे हो – परमहंस
269- जो प्रशंसा के योग्य हो – प्रशंसनीय
270- जो देखने में प्रिय लगे – प्रियदर्शी


271- पद का लालची – पदलोलुप
272- जिसकी पूजा की जा सके – पूजनीय
273- इतिहास लेखन से पहले का – प्रागैतिहासिक
274- पिता से प्राप्त की हुई संपत्ति – पैतृक
275- पत्ते की बनी हुई कुटी – पर्णकुटी
276- आंखों के सामने – प्रत्यक्ष
277- उपकार के बदले किया गया उपकार – प्रत्युपकार
278- जो गिरा हुआ हो – पतित
279- जिसका जन्म शरीर से हो – पिंडज
280- किये हुए पाप को स्वीकार कर दण्ड भोगना – प्रायश्चित


281- परिश्रम के बदले मिला हुआ धन आदि – पारिश्रमिक
282- पशुओं का या पशुओं जैसा – पाशविक
283- जिसे पीने की तीव्र इच्छा हो – पिपासु
284- किसी के निधन की वार्षिक तिथिं – पुण्यतिथि
285- अपने पुत्र की पत्नी – पुत्रवधू
286- किसी बात को दोबारा कहना – पुनरुक्ति
287- जिसकी प्रतिष्ठा या सम्मान हो – प्रतिष्ठित
288- जिसके आर पार देखा जा सके – पारदर्शी
289- जो कहीं जाकर वापस लौट आया हो- प्रत्यागत
290- ठीक समय पर तुरंत उपाय सोच लेने वाला- प्रत्युतपन्नमति


291- जो प्रमाण से सिद्ध हो सके – प्रमेय
292- विदेश में रहने वाला व्यक्ति – प्रवासी
293- प्रश्न के रूप में पूछने योग्य – प्रष्टव्य
294- स्त्री जिसने बच्चे को जन्म दिया हो – प्रसूता
295- हास्य रस प्रधान नाटक – प्रहसन
296- किसी टूटी फूटी वस्तु का फिर से निर्माण – पुनर्निर्माण
297- जिसकी कामना पूरी हो गयी हो – पूर्णकाम
298- किसी प्रश्नपत्र के लिए निर्धारित अंक, पूरे अंक – पूर्णांक
299- पुत्र का पुत्र – पौत्र
300- पुत्र की पुत्री – पौत्री

vakyansh ke liye ek shabd- अनेक शब्दों के लिए एक शब्द

301- जिसको दंडित किया गया हो – प्रताड़ित
302- किसी जगह से टकराकर वापस आयी ध्वनि – प्रतिध्वनि
303- दूसरे या विरोधी पक्ष का – प्रतिपक्षी
304- पिता का पिता – पितामह
305- पिता के पिता के पिता – प्रपितामह
306- हाथ से लिखी गयी पुस्तक – पांडुलिपि
307- किसी स्त्री को पत्नी के रूप में स्वीकार करने के लिए उसका हाथ पकड़ना – पाणिग्रहण
308- अगुआ बनकर मार्ग दिखाने वाला – पथप्रदर्शक
309- जिसकी परीक्षा ली जा चुकी हो – परीक्षित
310- अधिक बकवास करने वाला – प्रगल्भ


311- प्रिय बोलने वाली स्त्री – प्रियंवदा
312- प्रिय बोलने वाला – प्रियवादी
313- परपुरुष से प्रेम करने वाली स्त्री – परकीया
314- दूध, दही, घी, शक्कर, शहद से बना मिश्रण – पंचामृत
315- जो दूसरों के आश्रय में रहता हो – पराश्रित
316- जान पहचान वाला – परिचित
317- जिसे पति ने त्याग दिया हो – परित्यक्ता
318- पूर्ण रूप से पका हुआ – परिपक्व
319- पहरा देने वाला – प्रहरी
320- अपने पति से सच्चा प्रेम करने वाली स्त्री – पतिव्रता


321- शरीर की मांसपेशियों का शिथिल हो जाना – पक्षाघात, लकवा
322- जो निगाहों से ओझल हो – परोक्ष, अप्रत्यक्ष
323- शीघ्र आग पकड़ने वाला – ज्वलनशील
324- ऐसा वाक्य या पद जिसका उत्तर खोजना पड़े – पहेली, प्रहेलिका
325- लौटकर आया हुआ – प्रत्यावर्ती
326- पुस्तक में बाद में जोड़ा गया अंश – परिशिष्ट
327- मुकदमे का दूसरा पक्षकार – प्रतिवादी
328- पर्दे में रहने वाली – पर्दानशीं
329- जो शुद्ध किया जा चुका हो – परिमार्जित
330- वापस बुलाया हुआ – प्रत्याहूत


331- चारों ओर से घिरा हुआ – परिवेष्टित
332- प्रतियोगिता के विजेताओं को दिया जाने वाला उपहार – पारितोषिक
333- जो देश विदेश का भ्रमण करता हो – पर्यटक
334- किसी आरोप के उत्तर में लगाया जाने वाला आरोप – प्रत्यारोप
335- समान रूप से आगे बढ़ने की चेष्टा – प्रतिस्पर्धा
336- किसी विषय में पूरी तरह निपुण – पारंगत
337- रात्रि का प्रथम प्रहर/ संध्याकाल – प्रदोष
338- प्रयास करना जिसका स्वभाव हो – प्रयत्नशील
339- जो केवल फल खाकर रहता हो – फलाहारी
340- जिसमें शोभा के लिए फूल रखे जाते हैं – फूलदान


341- जिस स्थान पर बैठकर जुआँ खेला जाता है – फड़
342- घूम फिरकर सामान बेचने वाला – फेरीवाला
343- गैरजरूरी चीजों पर खर्च करने वाला – फिजूलखर्च
344- जिसके जोड़ का दूसरा न हो – बेजोड़
345- सूर्योदय से पूर्व दो घड़ी का समय – ब्रम्हमुहूर्त
346- जिसे समाज, जाति या किसी स्थान से बाहर निकाल दिया गया हो – बहिष्कृत
347- जिसकी जीविका बुद्धि संबंधी कामों से चलती हो – बुद्धिजीवी
348- खाने की इच्छा – बुभुक्षा
349- बहुत से रूप धारण करने वाला – बहुरूपिया
350- जो बहुत सी भाषाएं जानता हो – बहुभाषाविद, बहुभाषी

351- छोटे कद का आदमी – बौना
352- क्रोध करने वाली स्त्री – भामिनी
353- भाग्य पर विश्वास करने वाला – भाग्यवादी
354- जो भाषा का ज्ञाता हो – भाषाविद
355- आगे घटित होने वाला – भावी
356- जमीन के अंदर के विज्ञान का जानकार – भूगर्भशास्त्री
357- किसी पद पर पहले रह चुका व्यक्ति – भूतपूर्व
358- भूगोल से सम्बंधित – भौगोलिक
359- किसी टूटी इमारत का बचा खुचा भाग – भग्नावशेष
360- मरने की इच्छा रखने वाला – मुमूर्ष


361- जो भविष्य में निश्चित घटित हो – भवितव्यता
362- जिसे मोक्ष प्राप्त करने की इच्छा हो – मुमुक्ष
363- फूलों का मधु या पराग – मकरन्द
364- मन को हर लेने वाला – मनोहर
365- मनुष्य जाति से परे/ अलग – मानवेतर
366- मन से चुना हुआ – मनोनीत
367- मन के मलिन या दुखी होने का भाव – मनोमालिन्य
368- मन की अवस्था – मनोवृत्ति
369- असाधारण बुद्धि वाला – मेधावी
370- मन की या गूढ़ बात जानने वाला – मर्मज्ञ


371- जिसके मन को चोट पहुंची हो – मर्माहत
372- जो फूल पूर्ण रूप से विकसित न हुआ हो – मुकुल
373- अपनी शक्ति भर – यथाशक्ति
374- जितना संभव हो – यथासंभव
375- युद्ध करने की प्रबल इच्छा – युयुत्सा
376- अपने समय/ युग का महान व्यक्ति – युगपुरुष
377- मांगने या याचना करने वाला – याचक
378- हमेशा घूमते रहने वाला – यायावर
379- जो युद्ध में स्थिर रहता हो – युधिष्ठिर
380- खून से रंगा हुआ – रक्तरंजित


381- नाटक का मंच – रंगमंच
382- जिसके रोंगटे खड़े हो गए हों – रोमांचित
383- राज्य द्वारा प्रकाशित आधिकारिक पत्र – राजपत्र
384- पुलिस या सेना भर्ती नया जवान – रंगरूट
385- वह धन जो कर या अन्य रूप में राजा या राज्य को मिलता है – राजस्व
386- वह काव्य जिसका अभिनय किया जाए – रूपक
387- पूरा लाभ पाने की चाह – लिप्सा
388- लोक में प्रचलित वस्तुओं से बढ़कर – लोकोत्तर
389- आय- व्यय, लेन-देन का लेखा जोखा रखने वाला – लेखाकार
390- जनसामान्य द्वारा गाये जाने वाले गीत – लोकगीत


391- जिसकी खूब प्रतिष्ठा हो – लब्धप्रतिष्ठ
392- जिसका वर्णन न किया जा सके- अवर्णनीय
393- भगवान विष्णु का अनुयायी सम्प्रदाय – वैष्णव
394- अनुचित और अवैध यौन संबंध रखने वाला – व्यभिचारी
395- जो सबमें व्याप्त हो – विभु
396- जो कानून की दृष्टि में सही हो – वैध
397- किसी विषय को विशेष रूप से जानने वाला – विशेषज्ञ
398- जो बढ़ रहा हो – वर्द्धमान
399- जिस कन्या के विवाह का वचन दिया गया हो- वाग्दत्ता
400- जिस स्त्री का पति जीवित न हो – विधवा

one word in hindi- अनेक शब्दों के लिए एक शब्द

401- जिसकी पत्नी जीवित न हो – विधुर
402- कानून का मसौदा – विधयेक
403- जिसे जीत लिया गया हो- विजित
404- व्याकरण को जानने वाला – वैयाकरण
405- विज्ञान को जानने वाला – वैज्ञानिक
406- जिस स्त्री को संतान पैदा होती हो – वंध्या
407- तारों से भरी रात – विभावरी
408- अधिक बोलने वाला – वाचाल
409- बाल्यावस्था और युवावस्था के बीच का समय – वयःसंधि
410- जो पूरे विश्व मे प्रसिद्ध हो – विश्वविख्यात


411- जो अपने धर्म के विरुद्ध आचरण करता हो – विधर्मी
412- जिसमें कोई विकार हो – विकृत
413- चांदनी रात – शर्वरी
414- जिसे शब्दों से न कहा जा सके – शब्दातीत
415- समान रूप से ठंडा और गर्म – शीतोष्ण
416- जो देवी का उपासक हो – शाक्त
417- सिर पर धारण करने योग्य – शिरोधार्य
418- जो सुनने योग्य हो – श्रव्य
419- जो सबको एक समान देखता हो – समदर्शी
420- जो सबको प्राप्त हो सके – सर्वसुलभ


421- जिस स्त्री का पति जीवित हो – सधवा, सौभाग्यवती
422- एक ही जाति का – सजातीय
423- उच्चवर्ग का शासन – सामन्तशाही
424- अपनी इच्छानुसार आचरण करने वाला – स्वेच्छाचारी
425- जिसका स्वभाव स्त्रियों जैसा हो – स्त्रैण

426- अलग अलग अवयवों को एक में जोड़ना – संश्लेषण
427- जिसके बारे में संदेह हो – संदिग्ध
428- कुछ शर्तों पर कार्य करने कराने का समझौता – संविदा
429- दो भिन्न तत्वों के मिलन से उतपन्न – संकर
430- दो धाराओं या नदियों के मिलन का स्थान – संगम
431- साथ कार्य करने वाला – सहकर्मी
432- जो सबके उपयोग के लिए हो – सार्वजनिक
433- जो बाएं हाथ से काम करता हो – सव्यसाँची
434- एक ही माता के पेट से उतपन्न – सहोदर
435- वर्तमान या सही समय पर होने वाला – सामयिक
436- जो एक जगह से दूसरी जगह ले जाया जा सके – स्थावर
437- सब जगह समान रूप से होने वाला – सार्वभौम
438- किसी से आगे निकल जाने की प्रबल इच्छा – स्पर्द्धा
439- जो अपने आप उत्पन्न हुआ हो – स्वयंभू
440- जो स्मरण रखने योग्य हो – स्मरणीय


441- जिसकी गर्दन/ ग्रीवा सुंदर हो – सुग्रीव
442- पसीने से उत्पन्न होने वाला – स्वेदज
443- अपने भरोसे रहने वाला – स्वावलम्बी
444- अपने मन की प्रसन्नता के लिए – स्वान्तः सुखाय
445- समान आयु के लोग – समवयस्क
446- दूसरे के स्थान पर अस्थायी रूप से काम करने वाला – स्थानापन्न
447- प्राणों पर संकट लाने वाला – सांघातिक
448- हाथ की कारीगरी – हस्त कौशल, हस्त लाघव
449- हित चाहने वाला – हितैषी
450- सरलतापूर्वक हाथ में आ जाने वाली पुस्तक- हस्तपुस्तिका
451- जिसने अच्छे कार्य के लिए प्राण दे दिए – हुतात्मा
452- जो क्षमा करने योग्य हो – क्षम्य
453- जहां पृथ्वी और आकाश मिलते दिखाई दें – क्षितिज
454- जो भूख से व्याकुल हो – क्षुधातुर
455- क्षण भर में नष्ट हो जाने वाला – क्षणभंगुर
456- जो छुटकारा दिलाता हो – त्राता
457- जो जानने योग हो – ज्ञातव्य
458- नाक से रक्त बहने का रोग – नकसीर
459- फेंककर चलाया जाने वाला हथियार – अस्त्र
460- हाथ में पकड़कर चलाया जाने वाला हथियार – शस्त्र


461- अपनी सीमा का उल्लंघन करके दूसरे की सीमा में प्रवेश – अतिक्रमण
462- जो दबाया न जा सके – अदम्य
463- कर या शुल्क का वह भाग जो अधिक लिया जाता है – अधिभार
464- सरकार द्वारा घोषित या सरकारी गजट में प्रकाशित सूचना – अधिसूचना
465- नीचे की ओर मुख किये हुए – अधोमुख
466- जिसका कोई निश्चित घर न हो – अनिकेत
467- नीचे की ओर खींचने वाला – अपकर्ष
468- जो किसी की ओर मुख किये हो – अभिमुख
469- जिसका जन्म उच्च कुल में हुआ हो – अभिजात
470- किसी वस्तु का भीतरी भाग – अभ्यन्तर
471- सरकार द्वारा दूसरे देश की मुद्रा की तुलना में अपने देश की मुद्रा का मूल्य कम कर देना – अवमूल्यन
472- महल का भीतरी भाग – अन्तःपुर
473- जिसका जन्म छोटी जाति में हुआ हो – अन्त्यज
474- अपने हिस्से या अंश के रूप में कुछ दान करना- अंशदान
475- वर्षा का अभाव होना – अनावृष्टि

476- पृथ्वी की वह शक्ति जो सभी चीजों को अपनी ओर खींचती है – गुरुत्वाकर्षण
477- गणित के जानकार – गणितज्ञ
478- जो अच्छे कुल में उत्पन्न हुआ हो – कुलीन
479- जो विलंब या टालमटोल से काम करे – दीर्घसूत्री
480- दो वेदों को जानने वाला – द्विवेदी


481- तीन वेदों को जानने वाला – त्रिवेदी
482- चार वेदों को जानने वाला – चुतर्वेदी
483- सदा प्रसन्न रहने वाला या कला प्रेमी नायक – धीरललित
484- शक्तिशाली, दयालु और योद्धा नायक – धीरोदात्त
485- बहुत चंचल, दुष्ट और अपनी प्रसंशा करने वाला नायक – धीरोद्धत
486- पिता की हत्या करने वाला – पितृहन्ता
487- सोलह वर्ष की लड़की – षोडशी
488- सत्य के प्रति आग्रह – सत्याग्रह
489- बिजली की तरह चमक वाला – विद्युत्प्रभ
490- रात को न दिखाई देने वाला रोग – रतौन्धी
491- अपनी इच्छा से दूसरों की सेवा करने वाला – स्वयंसेवक
492- हृदय को विदीर्ण (तोड़ने) करने वाला- हृदयविदारक
493- जिसकी भुजाएं बड़ी हों – महाबाहु
494- जो सम्मान के योग्य हो – माननीय
495- माता की हत्या करने वाला – मातृहन्ता
496- मेघ की तरह आवाज करने वाला – मेघनाद
497- मुद्रा के अधिक प्रचलन में होने की स्थिति – मुद्रास्फीति
498- जो एक स्थान पर टिककर नहीं रहता – यायावर
499- परिवर्तन या बदलाव लाने वाला – प्रवर्तक
500- वात, पित्त और कफ का दोष – त्रिदोष


501- ऋणके रूप में आर्थिक सहायता – तकावी
502- शीतल, मन्द और सुगंधित वायु – त्रिविधवायु
503- जो दर्शन शास्त्र का ज्ञाता हो – दार्शनिक
504- जिसने गुरु से दीक्षा ली हो – दीक्षित
505- दैव या भाग्य की बात जानने वाला, ज्योतिषी – दैवज्ञ
506- देखने की इच्छा – दिदृक्षा
507- अपने प्राण स्वयं लेने वाला – आत्मघाती
508- दूसरे के लिए स्वयं को संकट में डालना – आत्मोत्सर्ग
509- आदि से अंत तक – आद्योपांत
510- तो तत्काल कविता की रचना कर दे – आशुकवि

ये भी पढ़ें-

हिंदी वर्णमाला की पूरी जानकारी

रस की परिभाषा

अलंकार के प्रकार, भेद और उदाहरण

हिंदी कहावतें अर्थसहित

80+ moral stories in hindi

अनेक शब्दों के लिए एक शब्द- one word substitution in hindi नामक यह पोस्ट आपको कैसी लगी ? कमेंट करके जरूर बताएं।

5 thoughts on “अनेक शब्दों के लिए एक शब्द- one word substitution in hindi”

  1. हम बहुत खोज के v आम और दल का अनेक शब्दों के एक शब्द नहीं धुंड पाए।।बाकी जो हुए बहुत अच्छा है,,

    1. खेद है कि आपको अपेक्षित शब्द नहीं मिले। वैसे आम और दल शब्द इस श्रेणी में न आकर कठिन शब्दों की श्रेणी में आ सकते हैं। आम का अर्थ है सामान्य। दल शब्द का अर्थ है समूह।

    1. शायद आपने पूरी पोस्ट नहीं पढ़ी। इसका उत्तर दिया गया है- पहेली या प्रहेलिका।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top